‘भोट खसालेर चिसो छल्न बेशी फर्किए मुस्ताङी’
सुन्दर कुमार थकाली मुस्ताङ, मंसिर १७