जेष्ठ नागरिकका कथा-व्यथा : सन्तान टाढिए, चौतारी नै रमाइलो
रासस रत्ननगर,  वैशाख ११